एक डेमो के लिए साइन अप करें

बटन पर क्लिक करके, आप अपने उपचार के लिए सहमत हैं व्यक्तिगत जानकारी

एक डेमो के लिए साइन अप करें

Close

एक डेमो के लिए साइन अप करें

बटन पर क्लिक करके, आप अपने उपचार के लिए सहमत हैं व्यक्तिगत जानकारी

ऑनलाइन प्रॉक्टरिंग. यह तकनीकी दृष्टि से कैसे कार्य करता है?

पिछले भाग में हमने परिभाषित किया कि सामान्य रूप से ऑनलाइन प्रॉक्टरिंग तकनीक क्या है। अब ऑनलाइन प्रॉक्टरिंग के लिए एग्ज़ाम अस एआई सॉल्यूशन का उपयोग करते हुए, इसके तकनीकी पक्ष को गहराई से जानने की बारी है।

ऑनलाइन प्रॉक्टरिंग तकनीक में आमतौर पर निम्नलिखित मॉड्यूल्स शामिल हैं:
· कार्यस्थल की अनुकूलता के निरीक्षण का मॉड्यूल
· फोटोग्राफिंग और पहचान मॉड्यूल
· साइबर-प्रोक्टरिंग मॉड्यूल
· डेटा स्टोरिंग और प्रॉक्टरिंग सेशन पोस्ट-वेरिफिकेशन मॉड्यूल
· कंट्रोल पैनल मॉड्यूल

कार्यस्थल पर अनुपालन के निरीक्षण का मॉड्यूल ऑनलाइन प्रॉक्टरिंग प्लेटफॉर्म का एक महत्पूर्ण भाग है।प्रारंभिक चरण में मॉड्यूल कैमरा और माइक्रोफ़ोन के जुड़े होने और दोनों उपकरणों द्वारा चित्र और ध्वनि के सुलभ होने की जांच करता है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि ऐप सर्वर पर वीडियो को रिकॉर्ड और प्रसारित कर सकता है मॉड्यूल वीडियो को प्रसारित करना शुरू कर देता है मानों यह एक वास्तविक परीक्षा हो। यदि प्रसारण प्रक्रिया शुरू करने में मॉड्यूल सक्षम नहीं है तो छात्र परीक्षा शुरू नहीं कर पाएंगे। साथ ही प्रसारण का सफल प्रयास हमेशा पर्याप्त नहीं होता है। भेजे गए वीडियो की गुणवत्ता अच्छी नहीं भी हो सकती है और प्रसारण भी बीच बीच में बाधित हो सकता है। इसलिए मॉड्यूल इंटरनेट कनेक्शन की गुणवत्ता की भी जांच करता है।

फोटोग्राफिंग और पहचान मॉड्यूल

परीक्षार्थी के परीक्षा सत्र (परीक्षा के लिए ग्रेड प्राप्त करने सहित) के अंत तक की अवधि का या ग्राहक की सहमति के अनुसार किसी अन्य अवधि तक के लिए किसी व्यक्ति के डेटाबेस में संदर्भ चित्रों को प्राप्त करना, उनका प्रसंस्करण और संग्रह करना फोटोग्राफिंग और पहचान मॉड्यूल का कार्य है। एग्ज़ाम अस प्रॉक्टरिंग सिस्टम छात्र के चेहरे को पहचानने के लिए न्यूरल नेटवर्क का प्रयोग करता है। स्वचालित पहचान के लिए उपयोगकर्ता को एक संदर्भ फोटो लेना होगा, बाद में जिसका उपयोग साइबर पहचान मॉड्यूल द्वारा उपयोगकर्ता की पहचान की पुष्टि करने केs साथ ही साथ परीक्षा में दूसरी बार और आगामी प्रवेशों के लिए प्रॉक्टरिंग के साथ किया जाएगा।

साइबर- प्रॉक्टरिंग मॉड्यूल

साइबर प्रॉक्टर मॉड्यूल में पांच बड़े ब्लॉक होते हैं:

· ऑडियो साइबर - प्रसारित ऑडियो स्ट्रीम में ध्वनि संकेतों को पहचानता हैA
· फेस-साइबर - चेहरे के वेक्टर को पढ़ने और निगाह की दिशा को पहचानने, फ्रेम में चेहरे की पहचान करने और फ्रेम में एक से अधिक चेहरे की उपस्थिति की पहचान का कार्य करता है ।
· साइबर- आइडेंटीफिकेशन- परीक्षार्थी के प्रतिस्थापन के निर्धारण का कार्य करता है।
· साइबर डेस्कटॉप - उपयोगकर्ता की स्क्रीन को नियंत्रित करने और स्क्रीन की स्थिति को स्थिर करने का कार्य करता है।
· साइबर-सर्च फॉर द सेम पर्सन- ऐसे व्यक्ति की पहचान करता है जिसने इसके पहले अलग खाते का प्रयोग करके इसी परीक्षा को पास किया हो , सिस्टम से धोखाधड़ी के प्रकारों में से एक है जब एक उत्कृष्ट छात्र कई बार परीक्षा पास करता है। उदाहरण के लिए , एक बार अपने लिए और चार बार अपने चार मित्रों के लिए।

फेस-साइबर न्यूरल नेटवर्क (आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस) पर आधारित है जो चेहरे को फेस-वेक्टर: आँखे, मुँह और नाक द्वारा पहचानता है। एआई ऑनलाइन प्रॉक्टरिंग न्यूरल नेटवर्क को एक डेटाबेस के आधार पर प्रशिक्षित किया जाता है जिसमें व्यक्ति के चेहरे की हजारों अलग-अलग तस्वीरें होती हैं। न्यूरल नेटवर्क चश्मे, दाढ़ी, लंबे बाल या अन्य केश विन्यास के साथ भी उस समान चेहरे को पहचान लेता है।

ऑडियो साइबर मिश्रित ऑडियो स्ट्रीम में से मानवीय आवाज़ को पहचानने के लिए लाइब्रेरी का प्रयोग करता है। जब किसी आवाज़ को पहचान लिया जाता है तो सिस्टम स्वचालित रूप से उल्लंघन को पकड़ लेता है और कंट्रोल पैनल को अलर्ट भेजता है। बाद में साइबर-प्रॉक्टर से प्राप्त अलर्ट की संख्या के आधार पर प्रत्येक छात्र के लिए रेटिंग के साथ परीक्षा के दौरान सभी उल्लंघनों को एक रिपोर्ट में सुरक्षित रखा जाता है।

साइबर - आइडेंटीफिकेशन परीक्षा से पहले फोटो खिंचवाने के चरण से गुजरे उपयोगकर्ता के चेहरे को याद रखता है और डेटाबेस में संदर्भ फोटो को अंकित कर लेता है तथा परीक्षा के दौरान समय -समय पर फ्रेम और संदर्भ फोटो के चेहरे की तुलना करता रहता है।

साइबर डेस्कटॉप लाइब्रेरी का उपयोग डेस्कटॉप की छवियों की फ्रेम-दर-फ्रेम तुलना के लिए करता है , 10 प्रतिशत से अधिक के परिवर्तन की स्थिति में स्वचालित उल्लंघन दर्ज हो जाता है और पुष्टि के लिए उसे मानव प्रॉक्टर कंट्रोल पैनल को प्रेषित कर दिया जाता है।

साइबर सर्च ऑफ द सेम फेस द्वारा फ़ोटोग्राफ़िंग के चरण में चेहरे की हर तस्वीर को कैप्चर किया जाता है , फिर फेस वेक्टर पर विचार होता है और इसके बाद फोटो को फेस वेक्टर द्वारा मैच के डेटाबेस में खोजा जाता है। मैच हो जाने पर सभी सूचना को रिपोर्ट और उपभोक्ता को प्रेषित कर दिया जाता है।

डेटा संग्रहण और प्रॉक्टरिंग सत्र के बाद सत्यापन मॉड्यूल

डेटा संग्रहीत करने और प्रॉक्टरिंग सत्रों के सत्यापन के बाद के मॉड्यूल। मॉड्यूल में प्रॉक्टरिंग सत्र (संग्रह) के डेटा और सत्यापन के संग्रहण के लिए उपयोगकर्ताओं (कैमरा और डेस्कटॉप) की वीडियो फाइलें तथा साइबर प्रॉक्टर और मानव प्रॉक्टर द्वारा दर्ज किए गए सभी उल्लंघन भी सुरक्षित रहते हैं ।
संदेशों और सत्र उल्लंघन के बारे में सभी सूचनाओं को एक पीडीएफ फाइल में डाउनलोड किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त इस मॉड्यूल में सत्र के स्वचालित मूल्यांकन की जानकारी को “ट्रैफिक लाइट” स्केल पर प्रदर्शित किया जाता हैः हरा-पूर्ण , पीला- सावधान , लाल - नकलची । रंग संकेत के रूप में वीडियो टाइमलाइन पर उल्लंघन भी प्रदर्शित किए जाते हैं : पीला भाग उल्लंघन दर्शाता है , लाल भाग प्रति मिनट 3 से अधिक उल्लंघन दर्शाता है।

कंट्रोल पैनल मॉड्यूल

कंट्रोल पैनल मॉड्यूल ग्राहक को प्रॉक्टरिंग सिस्टम के साथ स्वतंत्र रूप से काम करने की अनुमति देता है। ऑनलाइन प्रॉक्टरिंग ब्राउज़र से काम करता है, किसी अतिरिक्त इंस्टॉलेशन की आवश्यकता नहीं होती।

ऐक्सेस राइट के आधार पर निम्न संचालन सम्भव है:
· परीक्षा का आयोजन
· सिस्टम के उपयोगकर्ताओं की सृष्टि: छात्र, प्रॉक्टर्स , ऑफलाइन प्रॉक्टर्स, सिस्टम प्रबन्धक
· कैलेंडर में शेड्यूल बनाना
· एक दिन/सप्ताह के लिए परीक्षा के आँकड़ों को देखना
· आयोजित ऑनलाइन परीक्षा के दौरान स्थिति को देखना और छात्रों का प्रबन्धन
· ऑनलाइन सत्रों के लिए प्रॉक्टर्स की रिकॉर्डिंग
· सभी सत्रों का रिपोर्ट जनरेशन, जिसमें सांख्यिकीय रिपोर्ट (कितने उल्लंघनकर्ता थे, किस उल्लंघन को सबसे अधिक बार दुहराया गया, कितने लोगों ने एक से अधिक बार परीक्षा उत्तीर्ण की, स्वत: मूल्यांकन परिणामों का दायरा, आदि) शामिल हैं।

इस ब्लॉग पोस्ट में, हमने आपको एग्ज़ाम अस ऑनलाइन प्रॉक्टरिंग सॉल्यूशन के विभिन्न मॉड्यूलोंsa से परिचित कराया।

क्या आप जानना चाहते हैं कि कौन सी शैक्षिक प्रौद्योगिकी प्रचलन में है?

Examus team

July 2, 2020.
Interviews and articles
In this section, we share updates to the Examus online proctoring system. What's new: new features, interfaces, functions that we have prepared for you.
In this article we will tell why the rapid development of proctoring is logical, even without considering the pandemic...
The question of how to make sure that students are fully prepared for the proctoring exam is often raised by our clients.